Wednesday, June 19, 2024

भारत से ₹15.76 हजार करोड़ के ऑटो पार्ट्स खरीदेगी टेस्ला: केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल बोले- 8.29 हजार करोड़ के पार्ट्स खरीद चुकी है कंपनी

- Advertisement -

नई दिल्ली20 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

एलन मस्क की EV कंपनी टेस्ला ने इस साल भारत से 1.7 से 1.9 बिलियन डॉलर (करीब ₹14.10 हजार करोड़-₹15.76 हजार करोड़) के ऑटो पार्ट्स खरीदने का लक्ष्य रखा है। इस बात की जानकारी केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने 63वें ऑटोमोबाइल कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के एनुअल सेशन में संबोधित करते हुए दी।

उन्होंने कहा कि टेस्ला पहले ही भारत से 1 बिलियन डॉलर (करीब 8.29 हजार करोड़) के पार्ट्स खरीद चुकी है। मेरे पास उन कंपनियों की एक लिस्ट है जिन्होंने टेस्ला को आपूर्ति की। पिछले साल के मुकाबले इस साल टेस्ला अपने इंपोर्ट को डबल करने जा रही है। गोयल ने कहा कि 2030 तक कस्टमर्स के लिए EV खरीदने के लिए एक बाइंडिंग इकोनॉमिक स्ट्रक्चर होगा।

ऑटोमोबाइल कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के एनुअल सेशन में केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल।

ऑटोमोबाइल कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के एनुअल सेशन में केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल।

भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाना चाहती है टेस्ला
टेस्ला भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित करना चाहती है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार टेस्ला के अधिकारियों की 17 मई को भारत सरकार के अधिकारियों के साथ मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग में कंपनी ने भारत में इलेक्ट्रिक कार बनाने के लिए एक मैन्युफैक्चरिंग यूनिट स्थापित करने की इच्छा जताई थी।

अधिकारियों ने टेस्ला टीम से कहा था कि सरकार डोमेस्टिक वेंडर बेस स्टेब्लिश करने के लिए समय देने को तैयार है, लेकिन टेस्ला को इसके लिए एक कंफर्म टाइम स्लॉट बताना होगा।

पिछले साल टेस्ला और सरकार के बीच नहीं बनी थी बात

  • पिछले साल टेस्ला ने भारत आने की इच्छा जताई थी, लेकिन तब कंपनी और सरकार के बीच बात नहीं बन पाई थी। टेस्ला ने सरकार से पूरी तरह से असेंबल गाड़ियों पर लगने वाली इंपोर्ट ड्यूटी को 100% से घटाकर 40% करने की मांग की थी।
  • कंपनी चाहती थी कि उसकी गाड़ियों को लग्जरी नहीं बल्कि इलेक्ट्रिक व्हीकल माना जाए, लेकिन सरकार ने कहा था कि दूसरे देशों से इंपोर्ट किए जाने वाले किसी भी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पर इंपोर्ट ड्यूटी माफ या कम करने का कोई भी इरादा नहीं है।
  • सरकार ने कहा था कि अगर टेस्ला भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने का कमिटमेंट करती है तो इंपोर्ट पर छूट देने पर विचार किया जाएगा। हालांकि, मस्क चाहते थे कि पहले भारत में कारों की बिक्री की जाए, इसके बाद प्लांट लगाने का विचार किया जाएगा।
  • 27 मई 2022 को भी एक ट्वीट में रिप्लाई करते हुए एलन मस्क ने कहा था, ‘टेस्ला ऐसे किसी लोकेशन पर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नहीं लगाएगी जहां उसे पहले से कारों को बेचने और सर्विस की परमिशन नहीं है।’

3 महीने पहले प्रधानमंत्री मोदी से मिले थे एलन मस्क
3 महीने पहले जून में एलन मस्क ने प्रधानमंत्री मोदी से न्यूयॉर्क में मुलाकात की थी। PM मोदी से मुलाकात के बाद टेस्ला के भारत आने की टाइमलाइन के बारे में पूछे जाने पर मस्क ने कहा था, ‘मुझे विश्वास है कि टेस्ला जल्द भारत में होगी।’

मस्क अगले साल यानी 2024 में भारत भी आने वाले हैं।

तस्वीर में प्रधानमंत्री मोदी और एलन मस्क बात करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

तस्वीर में प्रधानमंत्री मोदी और एलन मस्क बात करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

Source

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisement
Live Tv
Market Live
Rashifal
Live Cricket Score
Weather Forecast
अन्य बातम्या
Related news